आखिर क्या होती है सरोगेसी, जिसकी मदद से बिना शादी माँ बनी एकता कपूर

सरोगेसी (Surrogacy) अर्थात किराए की कोख जिसके माध्यम से कोई भी संतान की खुशी हासिल कर सकता है। ये एक बेहतरीन चिकित्‍सा विकल्‍प है। इस प्रक्रिया के माध्यम से बॉलीवुड के बहुत से नि:संतान दंपतियों को संतान सुख प्राप्त हुआ है। फिर चाहे वो अभिनेता आमिर खान हो ,निर्माता व निर्देशक करण जौहर हो या तुषार कपूर। इस लिस्ट में अब एकता कपूर का भी नाम जुड़ गया है।
Ekta Kapoor surrogacy
Ekta Kapoor (Picture Coutesy : Google)
 सरोगेसी की जरूरत तब पड़ती है जब किसी स्त्री को या तो गर्भाशय का संक्रमण हो या फिर वह किसी अन्य कारण (जिसमें बांझपन भी शामिल है) से गर्भ धारण करने में सक्षम नहीं होती है
 
सरोगेसी (Surrogacy) दो प्रकार की होती है– एक जेस्टेशनल सरोगेसी और दूसरी ट्रेडिशनल सरोगेसी। ट्रेडिशनल सरोगेसी में पिता के शुक्राणुओं को एक अन्य महिला के अंडाणुओं के साथ निषेचित किया जाता है। इसमें जैनेटिक संबंध सिर्फ पिता से होता है, जबकि जेस्‍टेशनल सरोगेसी में माता-पिता के अंडाणु व शुक्राणुओं का मेल परखनली विधि से करवा कर भ्रूण को सरोगेट मदर की बच्‍चेदानी में प्रत्‍यारोपित कर दिया जाता है। इसमें बच्‍चे का जैनेटिक संबंध माता-पिता दोनों से होता है
सरोगेसी के माध्यम से अमेरिका में संतान प्राप्त करने का खर्चा 50 लाख रुपए से भी ज्यादा बैठता है, जबकि भारत में यह सुविधा मात्र 10 से 15 लाख में प्राप्त की जा सकती है। गुजरात मुंबई के अलावा भारत के कुछ अन्य प्रांतों में यह सुविधाएं मिल जाती हैं। भारत में यह सुविधा सस्ती होने की वजह से विदेशी भी भारत की ओर रुख कर रहे हैं। धन्यवाद
आखिर क्या होती है सरोगेसी, जिसकी मदद से बिना शादी माँ बनी एकता कपूर आखिर क्या होती है सरोगेसी, जिसकी मदद से बिना शादी माँ बनी एकता कपूर Reviewed by Realpost today on 12:34 AM Rating: 5
Powered by Blogger.