मां के साथ जली डेढ़ साल के बेटे की चिता, दोनों की अर्थियां साथ निकलीं तो हर आंख से छलक पड़े आंसू

मंगलवार शाम करीब 4 बजे के आसपास कुछ किडनैपर्स जयपुर के पॉश इलाके यूनिक टॉवर सोसाइटी में घुसे थे। जहां उन्होंने पहले यहां रहने वाले रोहित तिवारी की पत्नी श्वेता का मूसली से जबड़ा तोड़ा, फिर चाकू से गला रेतकर उसे मार डाला। इसके बाद 21 माह के बेटे श्रीयम का सिर फोड़ कर हत्या कर दी थी। मासूम की बॉडी घर के पीछे जंगल में मिली थी।बालकनियों में खड़े होकर इस मार्मिक दृश्य को लोगों ने देखा। मां-बेटे की अर्थी निकली, उस समय कॉलोनी की महिलाएं अपनी बालकनी में आकर दोनों को देख रही थीं। सभी की आंखों में आसूं के अलावा कुछ नहीं था। ऐसा लग रहा था मानो उनका कोई अपना इस दुनिया से विदा हो गया हो।
पति निकला हत्याराः चार दिन बाद पुलिस ने इस अंधे कत्ल से पर्दा उठाया। पुलिस ने दावा किया है कि मां-बेटे की हत्या के पीछे कोई और नहीं बल्कि महिला का पति रोहित है। उसने ही अपने जानने वाले को दोनों की सुपारी देकर इस खौफनाक डबल मर्डर की वारदात को अंजाम दिया है।
मृतका श्वेता की मां रोते हुए बार-बार यह कह रही थी कि जिसके हाथ में प्यारी बेटी का हाथ सौंपा, पता नहीं था वो इतना बड़ा जानवर निकलेगा।इंडियन ऑयल कंपनी में मैनेजर पद पर काम करने वाले पति ने ही पत्नी और मासूम बेटे की हत्या करवाई। चार दिन बाद पुलिस ने इसका खुलासा किया। गुरुवार को दोनों की एक साथ चिता जली तो यह दृश्य देखने वाली हर आंख से आंसू छलक पड़े। अंतिम संस्कार से पहले मासूम श्रेयम के शव को मां की गोद में लिटाया गया। श्मशान घाट पर जिसने भी यह दृश्य देखा, उसका कलेजा फट गया।
कानपुर के रहने वाले श्वेता के पिता सुरेश कुमार मिश्रा ने अपनी बेटी और नाती की हत्या के पीछे अपने दामाद का हाथ बताया था। उन्होंने पुलिस को बताया कि हमारी बेटी ने फोन कर कहा था कि पति उसके साथ मारपीट करता है और जान से मारने की धमकी देता है।
मां के साथ जली डेढ़ साल के बेटे की चिता, दोनों की अर्थियां साथ निकलीं तो हर आंख से छलक पड़े आंसू मां के साथ जली डेढ़ साल के बेटे की चिता, दोनों की अर्थियां साथ निकलीं तो हर आंख से छलक पड़े आंसू Reviewed by Realpost today on 6:56 AM Rating: 5
Powered by Blogger.