मुस्लिम महिलाओं का किए जाने वाला खतना वाकई इतना खतरनाक होता है,जानिए आप भी

मुस्लिम समुदाय में स्त्री “खतना” करना समाज के रीती रिवाज में माना जाता हैं लेकिन इसके दुप्रभाव जान दंग रह जाओगे, जानिए खबर आप भी ।
” खतना ” करने की प्रथा मुस्लिम समाज में आज भी चली आ रही हैं, यह प्रथा अत्यंत क्रूर और अमानवीय होने के साथ समाज और देश के कानून की निंदा करता हैं, यह “खतना” स्त्रीयों और पुरुषो दोनों में ही किया जाता हैं।
स्त्री “खतना” क्या हैं जानिए :-
स्त्री “खतना” की यह प्रथा मुस्लिम बोहरा मुस्लिम समुदाय की बच्चियों में एक भयंकर क्रूरता बन गया हैं, यह प्रथा अफ्रीका और अफ्रीका महाद्वीप के मिस्र, केन्या, यूगांडा, इरीट्रिया देशो में ज्यादा प्रचलित थी लेकिन अब तो यह भारत में भी पनपने लगी हैं, इस प्रथा में 5 से 8 की लड़कियों की क्लाइटोरल हुड को काट दिया जाता हैं, यह हिस्सा लड़कियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता हैं क्योकि इससे मासिक धर्म और प्रसव पीड़ा कम होती हैं।
खतना करने से कई लड़कियों के गुप्तांगो में संक्रमण होने से मौत भी हो जाती हैं जबकि शारीरिक सम्बन्ध बनाते समय ज्यादा दर्द होता हैं और शादी के कुछ दिनों बाद शारीरिक सम्बन्ध बनाने में मजा कम होने लग जाता हैं, जिससे रिश्तो में दूरिया बढ़ने लगती हैं।
इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें – धन्यवाद
मुस्लिम महिलाओं का किए जाने वाला खतना वाकई इतना खतरनाक होता है,जानिए आप भी मुस्लिम महिलाओं का किए जाने वाला खतना वाकई इतना खतरनाक होता है,जानिए आप भी Reviewed by Realpost today on 3:23 AM Rating: 5
Powered by Blogger.