कई बार संबंध बनाने को कहती पत्नी, मन नहीं भरा तो मोहल्ले के लड़कों से बुझाने लगी अपनी प्यास और फिर…

साल 2011 में निर्मला की शादी संजय रजक के साथ हुई। संजय रजक एक मेहनती था जिसने ज्यादा पैसे कमाने के लिए उस ने एक आफिस और स्कूल में माली का काम करता था। कुछ दिन तक सब ठीक चला उसके बाद जिस दिन संजय घर पर रहता उसकी पत्नी 11-12 बार संबंध बनाने को कहती थी। जिसे संजय रजक मना नहीं कर पाता था।
दिन गुजरता गया। अब संजय रजक की भी उम्र हो चली थी। लेकिन उसकी पत्नी की हवस अभी वही वाली थी। कभी-कभी तो संजय रजक उसको मन कर देता था। फिर उसकी पत्नी निर्मला ने उसे दवाई का सहारा लेने को कहा। तब फिर कुछ दिन तक काम चलता रहा। लेकिन फिर कमजोर पड़ने पर अब निर्मल पड़ोस के काम उम्र के लड़को से संबंध बनाने शुरू कर दिए थे। संजय यही सोचता था की लगता है निर्मला को बीमारी है लेकिन वो उसे ले जाये तो कहा क्यूंकि गांव डॉक्टरों की कमी थी। और इतने पैसे कमाता नहीं था की उसे शहर ले जाता।

जिसकी भनक संजय को लग चुकी थी। लेकिन वो निर्मला से सीधे नहीं पूछ सकता था। वो उसे रंगे हाथ पकड़ना चाहता था। एक दिन काम से वापस लौटा तो सनजय ने देखा की निर्मला एक लड़के के साथ रंगरलिया मना रही। जिसके बाद दोनों के बीच इस बात को लेकर खूब झगड़ा हुआ। जिस पर निर्मला का कहना था की जब तुमसे कुछ होता नहीं है तो मेरा मन मै जिसके साथ चाहु संबंध बनाऊ। जिसके बाद कमरे में पड़ा लोहे का डंबल उठा कर निर्मला के सिर पर संजय मार देता है जिससे निर्मला की मौत हो जाती है। फिर पत्नी की लाश को किचन में गढ्ढा खोदकर उसे उसी में दफ़न कर देता है। 

तब तक गांव वालो को भी इसकी खबर लग चुकी थी। जिसके बाद सनजय खुद अपने आप को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर देता है। तोरबा थाने की पुलिस से बातचीत में पता चलता है की निर्मला एक निंफोमेनिया नामक बीमारी से ग्रसित थी। जिसका इलाज मुमकिन है। लेकिन इलाज किसी विशेषज्ञ डाक्टर की देखरेख में किया जाये। लेकिन संजय पछताने के शिवाय कुछ नहीं कर सकता क्यूंकि निर्मला की मौत हो चुकी थी।
कई बार संबंध बनाने को कहती पत्नी, मन नहीं भरा तो मोहल्ले के लड़कों से बुझाने लगी अपनी प्यास और फिर… कई बार संबंध बनाने को कहती पत्नी, मन नहीं भरा तो मोहल्ले के लड़कों से बुझाने लगी अपनी प्यास और फिर… Reviewed by Realpost today on 7:04 AM Rating: 5
Powered by Blogger.