रात मां की बाहों में जिस तरह सोये थे बच्चे, सुबह उसी हालत में मिली सबकी लाश

घटना बिसवां थाना क्षेत्र के जलालपुर गांव स्थित कालीन फैक्ट्री की है। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री में रंगाई के लिए केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। इसी से बुधवार रात को गैस रिसाव की आशंका है। पास में ही एक केमिकल फैक्ट्री भी है।

 गैस के असर से फैक्ट्री में मौजूद 7 लोगों की मौत हो गई। कानपुर का रहने वाला अतीक (50) फैक्ट्री में गार्ड की नौकरी करता था। उसका परिवार यहीं रहता था। अतीक के अलावा पत्नी सायरा (40), बेटी आयशा (12), बेटा अफरोज (8), फैशल (18 माह) की भी जान गई। इनके अलावा दो अन्य मृतकों की पहचान पहलवान और मामा के रूप में हुई है।

घटना के बाद इलाके में दहशत, खाली कराई गई जगह

थाना प्रभारी अजय रावत ने बताया, घटना में एक गार्ड का पूरा परिवार खत्म हो गया। जबकि 2 अन्य लोगों की भी जान गई। फैक्ट्री के मालिक का नाम इजहारुल है।

मौके पर रेस्क्यू में दिक्कत आ रही थी। गैस के असर से फैक्ट्री के आसपास 5 कुत्तों समेत मवेशियों की भी जान गई। इलाके में गंध फैलने से लोग दहशत में है। आसपास के इलाके को खाली करा लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।
रात मां की बाहों में जिस तरह सोये थे बच्चे, सुबह उसी हालत में मिली सबकी लाश रात मां की बाहों में जिस तरह सोये थे बच्चे, सुबह उसी हालत में मिली सबकी लाश Reviewed by Realpost today on 5:15 AM Rating: 5
Powered by Blogger.