दूध बेचने वाले अनपढ़ बाप की बेटी 10वीं में लाई 99.17 फीसदी अंक, बताया कैसे मिली प्रेरणा

 नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारी इस रोचक पोस्ट पर, आज हम आपको एक ऐसी कहानी बताने वाले हैं जो पढ़कर आप खुश हो जाएंगे।आज हम आपको एक ऐसी लड़की के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने कम संसाधनों और परिवार की गरीब स्थिति के बावजूद अपनी पढ़ाई कर टॉप कर दिया। यह लड़की सभी विद्यार्थियों के लिए एक प्रेरणा बन चुकी हैं।


यह काम करते हैं पिता
आपके जानकारी के लिए बता दें कि शिला के माता और पिता अनपढ़ हैं. शीला के पिता मोहनलाल जाट दूध बेचकर जैसे तैसे अपनी आजीविका चलाते हैं। यह बहुत अभिमान की बात हैं कि गरीब और अनपढ़ होने के बावजूद उन्होंने अपनी बेटी की पढ़ाई लिखाई में कोई कमी नहीं आने दी हैं।

सभी विषयों में किया टॉप:

राजस्थान बोर्ड में 99.17 प्रतिशत अंक लाकर माता पिता का नाम रोशन करने वाली शीला जाट की सब जगह प्रशंसा हो रहीं हैं। शीला को एग्जाम में 600 में से 595 अंक हासिल हुए हैं, शीला ने गणित और विज्ञान में 100 में से 100 अनकट लाकर सबको हैरत में डाल दिया। वहीं हिंदी, अंग्रेजी और सामाजिक विज्ञान की बत करे तो इन विषयों में उन्होंने 99 अंक प्राप्त किये हैं। साथ ही संस्कृत में उनके 98 अंक आए हैं।

इस तरह से मिली प्रेरणा:

परीक्षा में मिले अच्छे अंको का श्रेय शिला ने अपने परिवार और शिक्षकों को दिया हैं। वहीं पढ़ाई में कुछ दिक्कत होने पर स्कूल की टीचर्स ने पूर्ण सहयोग और मदद की हैं। भविष्य के प्लान को बताते हुए शीला कहती हैं कि वो मेडिकल फिल्ड में आगे की पढ़ाई करना चाहती हैं। शीला का सपना हैं कि वे एक न्यूरो सर्जन बने, वे भविष्य में ब्रेन केंसर का इलाज करने की इच्छा रखती हैं।

दोस्तों शिला के इस शानदार प्रदर्शन के बारे में आपकी राय क्या है नीचे कमेंट कर बताएं।
दूध बेचने वाले अनपढ़ बाप की बेटी 10वीं में लाई 99.17 फीसदी अंक, बताया कैसे मिली प्रेरणा दूध बेचने वाले अनपढ़ बाप की बेटी 10वीं में लाई 99.17 फीसदी अंक, बताया कैसे मिली प्रेरणा Reviewed by Realpost today on 9:52 PM Rating: 5
Powered by Blogger.